भाजपा का आरोप, राजस्थान में कानून-व्यवस्था चौपट

बीकानेर। प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था एवं बढ़ते अपराधों, खासकर अनुसूचित जाति, महिलाओं पर हमलों के विरोध में भाजपा के प्रदेशव्यापी विरोध प्रदर्शन की श्रृंखला में भारतीय जनता पार्टी शहर-देहात का संयुक्त धरना व विरोध प्रदर्शन कर्मचारी मैदान में हुआ। शहर जिलाध्यक्ष डॉ. सत्य प्रकाश आचार्य, देहात जिलाध्यक्ष व विधायक बिहारी लाल बिश्नोई, लूणकरणसर विधायक सुमित गोदारा, महापौर नारायण चौपड़ा, पूर्व अध्यक्ष नगर विकास न्यास महावीर रांका, पूर्व संसदीय सचिव डॉ. विश्वनाथ मेघवाल, नन्दकिशोर सोलंकी, एडवोकेट मुमताज अली भाटी, जालम सिंह भाटी, विजय आचार्य, ताराचन्द सारस्वत, श्रीराम तर्ड, रामगोपाल सुथार, सहीराम दुसाद, जिला महामंत्री मोहन सुराणा, पाबूदान सिंह राठौड़, सवाई सिंह तंवर, जिला उपाध्यक्ष कुम्भाराम सिद्ध, पूराराम ढाका, किशनाराम गोदारा, शिवरतन शर्मा, गुमानसिंह राजपुरोहित, जगदीश भार्गव, नरेन्द्र चौहान, शिवजी रंगा, जे.पी. व्यास, विनोदगिरी गुसांई, महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष मधुरिमा सिंह, निर्मला खत्री, राजेश्वरी उपाध्याय, प्रमीला गौतम, कृष्णा कंवर शेखावत, तारा देवी, ओमप्रकाश मेघवाल, किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष किशन चौधरी, धूड़ाराम डेलू, ओबीसी मोर्चा जिलाध्यक्ष भंवर लाल जांगीड़, युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष विक्रम सिंह भाटी, भागीरथ मूण्ड, आनन्दसिंह भाटी, भुपेन्द्र शर्मा, सलीम जोईया, श्रीडूंगरगढ शहर मण्डल अध्यक्ष मानमल शर्मा, देहात मण्डल अध्यक्ष बजरंग सारस्वत, नोखा देहात मण्डल अध्यक्ष रामदयाल मेघवाल, ज्योतिस्वरूप सांस्कृता, रामनिवास कस्वां, नवरतन सिंह सिसोदिया, मनोज बिश्नोई, आसकरण भट्टड़, आसकरण उपाध्याय ने अपने प्रदेश सरकार की विफल कानून व्यवस्था की निंदा करते हुए नैतिकता के आधार पर इस्तीफा देने की मांग की। संचालन जिला महामंत्री मोहन सुराणा ने किया।

चक्कर लगा कर सौंपा ज्ञापन

धरने के बाद भाजपा नेताओं का प्रतिनिधि मण्डल रैली के रूप में कलक्ट्रेट परिसर के चारों ओर चक्कर लगा कर राज्यपाल के नाम का 30 सूत्री मांगपत्र जिला कलक्टर को सौंपा व प्रदेश की बेपटरी कानून व्यवस्था तथा बढ़ते अपराधों पर प्रभावी कदम उठाने की मांग की। प्रतिनिधि मण्डल ने बीकानेर जिले के स्थानीय मुद्दों जिनमें महिला उत्पीडऩ की बढ़ती घटनाओं, नगर निगम परिसीमन में व्याप्त खामियों, नगर निगम क्षेत्र से बाहर की आवासीय कॉलोनियों को निकाय क्षेत्र में शामिल करने की मांग, नोखा क्षेत्र में नई पंचायत समिति गठन की मांग, श्रीडूंगरगढ में प्रस्तावित पंचायत समिति का मुख्यालय ऊपनी से बदलने की मांग सहित 30 सूत्री मांगों के ज्ञापन पर जिला प्रशासन से बिन्दुवार चर्चा करते हुए शीघ्र समाधान न होने पर व्यापक जन आन्दोलन छेडऩे का आह्वान किया।